Osho World Online Hindi Magazine :: January 2012
www.oshoworld.com
 
ओशो का 80वां जन्मोत्सव

ओशोधाम, नयी दिल्ली

ओशो के 80वें जन्मदिवस पर ओशोधाम में 7 से 11 दिसम्बर को मा योग नीलम तथा मा धर्म ज्योति के संचालन में ओशो-जन्मोत्सव को समर्पित ध्यान-शिविर घटित हुआ। पांच दिवसीय ध्यान-शिविर में दिन भर के ध्यान प्रयोगों के बाद सांध्य-सत्संग में भी उत्सव का माहौल बना रहा। पूरे शिविर में अनगिनत ओशो-प्रेमियों की महत्वपूर्ण उपस्थिति रही।

दिसम्बर अंक की ओशो वर्ल्ड पत्रिका का भारत के अनेक राज्यों में लोकार्पण हुआ। सभी ओशो संन्यासियों तथा प्रेमियों ने अपने-अपने शहर के गणमान्य व्यक्तियों और अतिथियों के हाथों दिसम्बर संस्करण का लोकार्पण कराया जिसे आप इस अंक में देख सकते हैं।

कानपुर, उत्तर प्रदेश

एक तीन-दिवसीस ध्यान शिविर का आयोजन हुआ ओशो ध्यान केंद्र में। स्वामी अंतर जगदीश एवं मा ध्यान आभा के संचालन में अनगिनत शिविरार्थियों की उपस्थिति रही। पूरे कार्यक्रम की गतिविधियों को स्थानीय समाचार पत्रों ने प्रकाशित किया।

-स्वामी गोविन्द चैतन्य

अकोला, महाराष्ट्र



28 अक्टूबर से 08 नवम्बर तक बारह दिवसीय ध्यान शिविर लगा। 100 साधकों की मौजूदगी में अनेक ओशो ध्यान विधियां घटित हुईं। शिविर का संचालन किया स्वामी संजय नारायण ने।

मुंगसाजी महाराज विद्यालय में कक्षा 5 से 9 तक के विद्यार्थियों के लिए एक ध्यानयोग तथा साधना का कार्यक्रम हुआ। स्वामी संजय नारायण ने इस कार्यशाला का कुशल संचालन किया।

जयपुर, राजस्थान

दिनांक 31 अक्टूबर की संध्या सुभाषनगर स्थित कृष्ण कृपा भवन के योगापीश हॉल में ध्यानोत्सव का आयोजन हुआ। शिविर का संचालन किया स्वामी ओम शांति ने। ध्यान में 50 मित्रों का आगमन हुआ। सभी प्रेमी नाचते, गाते बड़े आनंद व उत्साह से ध्यान में डूबे।

-स्वामी चैतन्य सत्यार्थी

रायबरेली, उत्तर प्रदेश



4 से 6 नवम्बर एक त्रि-दिवसीय ध्यान शिविर का आयोजन हुआ मेरा मान गेस्ट हाउस में। शिविर में 125 मित्रों ने भाग लिया और 13 प्रेमियों ने नव-संन्यास धारण किया। शिविर संचालक मा प्रेम भारती व स्वामी आनंद वर्तमान ने एक नए ध्यान केंद्र का उद्घाटन किया जिसका नाम ‘ओशो रामकृष्ण परमहंस’ ध्यान केंद्र रखा। इस ध्यान केंद्र में पाठकों को ओशो-साहित्य निःशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा।

-स्वामी चेतन विस्तार

भागलपुर, बिहार



पांच दिवसीय ओशो मेडिटेशन वर्कशॉप लगा 04 से 09 नवम्बर को। शिविर में दैनिक ध्यान के साथ-साथ सांध्य सत्संग के कार्यक्रम भी हुए। संचालन स्वामी आनंद अभय ने किया।

-स्वामी प्रेम अनमोल

जूनागढ़, गुजरात



ओशो साधना आश्रम, पादरिया में 08 से 12 नवम्बर पांच-दिवसीय ध्यान शिविर लगा। स्वामी आनंद रंग और मा मंजुला के संचालन में अनेक मित्रों ने शिविर में हिस्सा लिया। अंतिम दिन 3 प्रेमियों ने नव-संन्यास धारण किया।

सूरतगढ़, राजस्थान

स्वामी अंतर जगदीश के संचालन में एक तीन दिवसीय ध्यान शिविर का आयोजन हुआ। 10 से 13 नवम्बर तक चले इस कार्यक्रम में 100 प्रेमी एकत्रित हुए और ध्यान-प्रयोग किया। साथ-ही 7 मित्र नव-संन्यास में दीक्षित हुए। इस दौरान ओशो सर्किल फाउंडेशन की तरफ से एक पुस्तक प्रदर्शनी का भी आयोजन हुआ। पूरे शिविर में संन्यासियों की त्वरा देखते ही बनती थी।

-स्वामी देव पारस

भुज, कच्छ



ओशो संकल्प ध्यान केंद्र में 11 से 13 नवम्बर को ध्यान शिविर हर्ष और आनंदोत्सव के साथ संपन्न हुआ। पूरे कार्यक्रम में अनगिनत साधकों की उपस्थिति सराहनीय रही तथा सभी ने ओशो ध्यान-पद्धतियों का स्वाद चखा।

-स्वामी धर्म अद्वय

वाराणसी, उत्तर प्रदेश



ओशो मंदाकिनी आश्रम में गत् 12 से 14 नवम्बर ओशो तंत्र-प्राण साधना शिविर संपन्न हुआ। स्वामी चैतन्य कीर्ति के संचालन में सभी साधक ओशो द्वारा बताये तंत्र-प्राण के विभिन्न आयामों से परिचित हुए। कार्यक्रम में 70 मित्रों की सहभागिता रही। अंतिम दिन 9 मित्रों ने नव-संन्यास ग्रहण किया।

-मा अमृता

देवताल, जबलपुर



ओशो अमृतधाम में दिनांक 12 से 20 नवम्बर स्वदर्शन साधना शिविर का आयोजन हुआ। इसमें भारत के विभिन्न प्रांतों से आये साधक मित्रों ने भाग लिया। विभिन्न ध्यान प्रयोगों से, मित्रों ने एक नये रूपांतरण का अनुभव किया।

-स्वामी शिखर

मालवीय नगर, दिल्ली

भगवान श्री मेडिटेशन सेंटर पर 20 नवम्बर को गुरुनानक जयंति बड़ी श्रद्धा और आनंद से मनाया गया। अनेक मित्रों ने इस प्रोग्राम में हिस्सा लिया और सद्गुरु के समक्ष अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

ऋषिकेश, उत्तराखंड

24 से 27 नवम्बर पांच-दिवसीय ध्यान शिविर लगा स्वामी स्वतंत्रतानंद आश्रम में। 70 ओशो-प्रेमियों ने इस आयोजन में भाग लिया। मा ध्यान आभा और स्वामी अंतर जगदीश ने पूरे शिविर का कुशल संचालन किया।

-स्वामी प्रेम मनीश

बिलासपुर, छत्तीसगढ़

ओशो के 80वें जन्म दिवस पर श्री धर्म लाल कौशिक के हाथों दिसम्बर अंक की ओशो वर्ल्ड पत्रिका का विमोचन हुआ। कार्यक्रम में अनेक ओशो-संन्यासियों एवं प्रेमियों की उपस्थिति रही।

-स्वामी अंतर आरीश

बोकारो स्टील सिटी, झारखंड

ओशो ध्यान साधना केंद्र की ओर से 22 से 26 नवम्बर तक ध्यान-शिविर, संदेश प्रसार व जनसंख्या सतर्कता अभियान का महत्वपूर्ण कार्यक्रम हुआ।

-स्वामी देव उत्सव

भटिंडा, पंजाब



एक दिवसीय ध्यान शिविर का आयोजन हुआ ओशो प्रेम ध्यान मंदिर में 04 दिसम्बर को। 65 ओशो-प्रेमियों ने इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया। शिविर का संचालन स्वामी जसपाल ने किया।

-स्वामी देव नमन

काठमाण्डू, नेपाल

   

ओशो तपोवन में गत् 17 अक्टूबर से 06 नवम्बर तक मिस्टिक रोज़ ध्यान गु्रप आयोजित किया गया। प्रकृति के नैसर्गिक वातावरण में सहभागियों को अपने भावों को जीना बिलकुल सहज ही हुआ। अनेक देशों के 23 मित्रों ने इस गु्रप में भाग लिया।
और 17 से 23 नवम्बर तक नो-माइंड थेरेपी का अयोजन हुआ। जिसमें 35 मित्रों की उपस्थिति रही। गहन रेचन के पश्चात एक बालसुलभ निश्चल मौन घटा। नवम्बर माह में चार सप्ताहांत शिविर लगे। 25 मित्रों ने नव-संन्यास धारण किया। संचालन स्वामी आनंद अरुण ने किया व सहयोग स्वामी कृष्ण मोहन और ध्यान ऋषि का रहा।

भक्तपुर, नेपाल



ओशो यशोधरा ध्यान केंद्र में एक दिवसीय ध्यान शिविर का आयोजन हुआ। गहन ऊर्जा की उपस्थिति में सहाभागी मित्रों ने ओशो की ध्यान विधियों का अभ्यास किया। सभी मस्त होकर कीर्तन ध्यान में नाचे। 5 मित्रों ने नव-संन्यास ग्रहण किया। शिविर का संचालन स्वामी स्वरूप चिन्मय और स्वामी रवि भारती ने किया।