Osho World Online Hindi Magazine :: September 2012
www.oshoworld.com
 
गतिविधियां
ओशो वर्ल्ड गैलेरिया

मनैं चाकर राखो जी...

कृष्णजन्मोत्सव के पावन अवसर पर 6 अगस्त की संध्या नई दिल्ली स्थित ओशो वर्ल्ड गैलेरिया में एक बैठक का आयोजन किया गया। इस उपलक्ष्य पर भारत की पद्मविभूषण़ शास्त्रीय नृत्यांगाना सोनल मानसिंह ने कार्यक्रम का शुभारंम्भ ओशो के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित करके किया।

कार्यक्रम के दौरान सोनल मानसिंह ने कृष्ण वंदना राग छेड़ा। जिसमें विशेष आकर्षण मीरा की कृष्ण के प्रति असीम प्रेम भक्ति को अपने शब्दों में पिरो कर प्रस्तुत करना रहा। इसके बाद उन्होंने मीरा भजन 'मनैं चाकर राखो जी' को भी अपनी सुरीली आवाज में गाया। जगत में अपनी लीलाओं से प्रेम रस की रसधार बहाने वाले कृष्ण की सौन्दर्यता का बखान श्रोतागणों ने अत्यंत ध्यानपूर्वक सुना। मुख्य अतिथि ने अगस्त माह की ओशो वर्ल्ड पत्रिका का विमोचन किया। सदगुरु ओशो कहते है-"कृष्ण अकेले हैं जो समग्र जीवन को पूरा ही स्वीकार कर लेते हैं। जीवन की समग्रता की स्वीकृति उनके व्यक्तित्व में फलित हुई।"

कार्यक्रम का संचालन स्वामी आनंद कुल भूषण ने किया।

विडियो
समय: 5 मिनट 42 सेकंड

ध्यान जगत

देवताल, जबलपुर

ओशो अमृतधाम में 1 से 3 जुलाई गुरुपूर्णिमा महोत्सव का आयोजन किया गया। भारत के विभिन्न प्रांतों से आये अनेक साधक मित्रों ने ध्यान और उत्सव का आनंद का प्राप्त किया।

वाराणसी, उत्तर प्रदेश



गुरुपूर्णिमा महोत्सव ओशो मंदाकिनी आश्रम में 1 से 3 जुलाई तक मनाया गया। उत्सव में 125 साधकों की सहभागिता रही। मा ध्यान आभा के संचालन में सभी मित्रों ने विभिन्न ध्यान प्रयोगों एवं गीत-संगीत का आनंद लिया। शिविर में 7 नए मित्रों ने ओशो के नव-संन्यास में प्रवेश लिया।

-मा अमृता

बरौनी, बिहार



ओशो प्रेमगीत ध्यान केंद्र में गुरुपूर्णिमा के अवसर पर 1 से 3 जुलाई तीन-दिवसीय ध्यान-शिविर आयोजित किया गया। जिसमें अनगिनत प्रेमियों का आगमन हुआ। उत्सवमय वातावरण में 5 मित्रों ने नव-संन्यास ग्रहण किया। संचालन स्वामी हरिश्चंद्र भारती ने किया।

ओशो प्रेमगीत नव-संन्यास कम्यून, शिवपुरी, मध्य प्रदेश

ओशो मित्र मंडल की ओर से होटल फूलराज में गुरुपूर्णिमा उत्सव बड़ी ही धूम-धाम के साथ मनाया गया। 40 मित्रों ने शिविर में भाग लिया। ध्यान-शिविर का संचालन स्वामी प्रेम प्रकाश ने किया।

मालवीय नगर, नई दिल्ली

ओशो भगवानश्री मेडिटेशन सेंटर पर 10 जुलाई एवं 1 अगस्त तक स्वामी आनंद अरुण के संग सांध्य-सत्संग का कार्यक्रम हुआ। 3 अगस्त को कृष्ण-सप्ताह का कार्यक्रम हुआ और 5 अगस्त को एक दिवसीय ध्यान-शिविर लगा जिसका संचालन स्वामी आनंद गोपाल ने किया।

कपूरथला, पंजाब



22 अगस्त को एक दिवसीय ओशो ध्यान शिविर का कार्यक्रम हुआ। 40 मित्रों के साथ स्वामी ओम गोविंद ने शिविर का संचालन किया।

-मा सुजाता

भीमताल, नैनीताल

 

ओशो ओम प्रकाश पीठ में एक तीन दिवसीय ओशो ध्यान शिविर का आयोजन हुआ। 26 से 28 जुलाई तक चले शिविर में विभिन्न प्रांतों से प्रेमी-मित्रों का आगमन हुआ। शिविर के अंतिम दिन अनेक मित्रों ने नव-संन्यास दीक्षा ली। संचालन स्वामी शून्यम् प्रकाश ने किया।

आगरा, उत्तर प्रदेश



ओशो ध्यान साधना केंद्र एवं लाइब्रेरी में एक दिवसीय मौन ध्यान शिविर लगा। ध्यान में कई दैनिक विधियां हुईं जिसका संचालन स्वामी ज्ञान दीपेश ने किया। शिविर के दौरान ओशो प्रेमी व संन्यासी ध्यान के सागर में डूबे रहे।

मेरठ, उत्तर प्रदेश

ग्लोबल डायनेमिक फ्रेंड्स द्वारा आयोजित मेरठ कॉलेज के प्रांगण में ध्यान-साधना पर साप्ताहिक कार्यक्रम हुआ। जिसका संचालन श्री आर.सी जैन द्वारा किया गया। कार्यक्रम के दौरान सभी मित्रों को एकांत मौन दर्शन के बारे में बताया और करवाया गया।

-स्वामी नीरव असीम

भटिंडा, पंजाब

ओशो प्रेम ध्यान मंदिर में दिनांक 5 अगस्त को एक दिवसीय ध्यान शिविर का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में 60 प्रेमियों ने हिस्सा लिया। स्वामी सागर ने शिविर का संचालन किया।

-स्वामी देव नमन

गोवा



ओशो प्रेयर होम ध्यान केंद्र में एक पांच दिवसीय शिविर लगा। केंद्र में विभिन्न राज्यों से अनगिनत साधकों का आगमन हुआ। स्वामी गोपाल भारती तथा मा ध्यान नीरजा ने शिविर का संचालन किया।

सहरसा, बिहार

02 अगस्त को एक दिवसीय ओशो ध्यान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में कई दैनिक विधियां करवाई गई जिसका उपस्थित सभी मित्रों ने मौनपूर्वक आनंद लिया। ध्यान-शिविर का संचालन स्वामी प्रेम समर्पण ने किया।

-स्वामी ध्यान कमल